Ibrahim Ashk Poetry / Shayari / Ghazals | इब्राहीम अश्क़ की शायरी

Ibrahim Ashk Poetry / Ghazals Collection

ibrahim ashkIbrahim Khan Gauri is a Urdu Poet, journalist, actor and film lyricist. He writes under the pen name Ashk.
Ibrahim Ashk
was born on 20th July 1951, at Ujjain, Madhya Pradesh (India).
Ibrahim Ashk received his early education in Ujjain and went on to get his B.A. degree in 1973 and his M.A. in Hindi Literature in 1974 from Indore University.
Ibrahim Ashk is remarkable for his acute creativity and has made his contribution to various poetical forms. Ibrahim Ashk published several volumes of his poetry. Among these, Ilhaam and Aagahi are much better known than others. Ibrahim Ashk also wrote literary criticism.
Ibrahim Ashk works on Iqbal and Ghalib bear ample testimony to his critical acumen. Ibrahim Ashk also released several albums of his ghazals.
Read here all Ibrahim Ashks Poetry collection on Gulzariyat.com

SN: Ghazals of Ibrahim Ashk
01. Dekha Toh Koi Aur Tha Socha Toh Koi Aur / Ibrahim Ashk
02. Duniya Luti Toh Door Se Takta Hi Rah Gaya / Ibrahim Ashk

इब्राहीम अश्क़ की शायरी संग्रह हिंदी में

इब्राहीम अश्क़ एक उर्दू शायर, पत्रकार और हिंदी फिल्मों के गीतकार हैं जो 20 जुलाई 1951 को हिंदुस्तान के मध्य प्रदेश के उज्जैन में पैदा हुए थे । इनका वास्तविक नाम इब्राहिम खान गौरी है पर ये ‘अश्क’ उपनाम से अपनी रचनाओं को लिखते हैं।
इब्राहीम अश्क़ की प्रारम्भिक शिक्षा उज्जैन में ही हुई इसके बाद इन्होने इंदौर विश्वविद्यालय से 1973 में बी ए और 1974 में हिंदी से M A किया।
इब्राहीम अश्क़ बॉलीवुड की कई प्रसिद्ध फिल्मों के लिए गाने लिख चुके हैं जैसे ‘कहो ना प्यार है’.. ‘कोई मिल गया’.. ‘जानशीन’.. ‘ऐतबार’.. ‘आप मुझे अच्छे लगने लगे’.. ‘कोई मेरे दिल से पूछे’.. ‘धुंध’ और बहुत सी अन्य के लिए भी ।यहाँ गुलज़ारियत डॉट कॉम पे आप इब्राहीम अश्क़ साहब की सभी शायरी / ग़ज़ल को हिंदी में पढ़ सकते हैं ।

क्रम संख्या: इब्राहीम अश्क़ की ग़ज़लें
01. देखा तो कोई और था सोचा तो कोई और / इब्राहीम अश्क़
02. दुनिया लुटी तो दूर से तकता ही रह गया / इब्राहीम अश्क़