Anwar Jalalpuri Poetry / Shayari / Ghazals | अनवर जलालपुरी की शायरी

Anwar Jalalpuri Poetry / Ghazals Collection

Anwar JalalpuriAnwar Jalalpuri was born in 1947 at Jalalpur town in in Ambedkar Nagar district of Uttar Pradesh state in India. Anwar Jalalpuri was a Urdu poet known for translating Bhagavad Gita from Sanskrit to Urdu. Anwar Jalalpuri received the Padma Sri honour posthumously from the President of India. He died from brain stroke on 2nd January 2018.

Read here all Anwar Jalalpuri’s Poetry collection on Gulzariyat.com

SN: Ghazals of Anwar Jalalpuri:
01. Paraya Kaun Hai Aur Kaun Apna Sab Bhula Denge / Anwar Jalalpuri
02. Soch Raha Hun Ghar Aangan Mein Ek Lagaun Aam Ka Ped / Anwar Jalalpuri
03. Zulf Ko Abr Ka Tukda Nahin Likhkha Maine / Anwar Jalalpuri

अनवर जलालपुरी की शायरी संग्रह हिंदी में

अनवर जलालपुरी एक मशहूर उर्दू शायर थे जो उत्तर प्रदेश जिले के अम्बेडकर नगर जिले के जलालपुर कस्बे में 1947 में हुआ था। मुशायरों की जान माने जाने वाले अनवर जलालपुरी ने राहरौ से रहनुमा तक उर्दू शायरी में गीतांजलि तथा भगवद्गीता के उर्दू संस्करण उर्दू शायरी में गीता पुस्तकें लिखीं जिन्हें बेहद सराहा गया था। उन्होंने अकबर द ग्रेट धारावाहिक के संवाद भी लिखे थे।
2 जनवरी 2018 को मस्तिष्क आघात से अनवर जलालपुरी का निधन हो गया।यहाँ गुलज़ारियत डॉट कॉम पे आप अनवर जलालपुरी साहब की सभी शायरी / ग़ज़ल को हिंदी में पढ़ सकते हैं ।

क्रम संख्या: अनवर जलालपुरी की ग़ज़लें:
01. पराया कौन है और कौन अपना सब भुला देंगे / अनवर जलालपुरी
02. सोच रहा हूँ घर आँगन में एक लगाऊँ आम का पेड़ / अनवर जलालपुरी
03. ज़ुल्फ़ को अब्र का टुकड़ा नहीं लिख्खा मैंने / अनवर जलालपुरी

Share your thoughts- Lets talk!

Loading Facebook Comments ...
Loading Disqus Comments ...

Leave a Comment